गुरुवार, 16 मार्च 2017

पांडवों द्वारा स्थापित पांच शिव लिंगों का मंदिर... सोमेश्वर महादेव

हिमालय की दूसरी परत शिवालिक में स्थापित.... "सोमेश्वर महादेव"........ प्राचीन शिव मंदिर, स्वामीपुर बाग....नजदीक नंगल (पंजाब)
           यह प्राचीन स्थान एवम मंदिर नंगल झील की पिछली तरफ हिमाचल प्रदेश की सीमा से लगते गांव स्वामीपुर बाग में हैं........ इस मंदिर का इतिहास पांडवो से जुड़ा है........ कहते हैं कि, वनवास के दौरान एक वर्ष  शिवरात्रि के समय पांडवो ने यहां गुज़रते हुए पांच अलग-अलग आकार के शिव लिंगों को एक दिशा और एक ही रेखा में  स्थापित कर शिवरात्रि की पूजा-अर्चना की थी
             परन्तु समय के कालचक्र में आज यहां पर पांच में चार शिवलिंग ही नजर आते हैं, पांचवां शिवलिंग भूमिगत हो गया............ और अब एक विशालकाय वट वृक्ष इन शिवलिंगों के ऊपर खड़ा हैं
             इस प्राचीन स्थान पर मंदिर बनाने और रखरखाव में...... पास के ही हिमाचल प्रदेश के गांव के बाह्रमण.... बाबा रोशन लाल जी ने अपनी तमाम उमर लगा दी......बताते हैं, कि वह चायपत्ती का छोटा-मोटा व्यापार आस-पास के गांवों में करते थे.... जो भी उस व्यापार से कमाया... घर कुछ नही लेकर गए,  बस सब कुछ यही लगा दिया
               मैने कोई दस साल पहले यह मंदिर देखा था...... और अब देखा, तो काफी कुछ नया बन चुका है यहां पर.............बाबा रोशन लाल जी की मृत्यु के बाद अब गांव की कमेटी ही इस मंदिर के प्रबंधन के देख रही हैं और बाबा रोशन लाल जी की खूबसूरत समाधि भी मंदिर में बनाई गई हैं.......
सोमेश्वर महादेव मंदिर स्वामीपुर बाग की ओर जाती हुई सड़क पर बना द्वार.... 
सोमेश्वर महादेव मंदिर प्रांगण....
सोमेश्वर महादेव मंदिर में... भगवान शिव की बेहद सुंदर मूर्ति.... 
सीधी रेखा और समान दूरी पर स्थापित है अलग-अलग आकार के चार शिवलिंग... सोमेश्वर महादेव 
बाबा रोशन लाल जी की समाधि.... जिन्होंने अपनी सारी जिंदगी इस मंदिर के निर्माण और देखरेख में लगा दी.... 
सोमेश्वर महादेव मंदिर में एक रेखा में ही स्थापित सभी शिव लिंग... 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें